राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

बुधवार, अक्तूबर 26, 2011

रहे न किसी की झोली खाली- ऐसी हो सबकी दीवाली

आज है दीपों का पर्व दीवाली
हर आंगन में दीप चले
हर घर में हो खुशहाली
सब मिलकर मनाए
भाई चारे से दीवाली
रहे न किसी की झोली खाली
ऐसी हो सबकी दीवाली
हिन्दु, मुस्लिम, सिख, ईसाई
जब सब हैं हम भाई-भाई
तो फिर काहे करते हैं लड़ाई
दीवाली है सबके लिए खुशिया लाई
आओ सब मिलकर खाए मिठाई
और भेद-भाव की मिटाए खाई

7 टिप्पणियाँ:

शिवम् मिश्रा बुध अक्तू॰ 26, 01:18:00 pm 2011  

आई है दिवाली देखो संग लायी है खुशियाँ देखो.
यहाँ, वहां, जहाँ देखो
आज दीप जगमगाते देखो!
शुभ दीपावली!

संगीता पुरी बुध अक्तू॰ 26, 11:13:00 pm 2011  

बहुत बढिया ..
.. आपको दीपपर्व की असीम शुभकामनाएं !!

सूर्यकान्त गुप्ता गुरु अक्तू॰ 27, 06:57:00 am 2011  

दीपोत्सव के चौथे दिन " अन्न कूट गोवर्धन-पूजा" की आपको बहुत बहुत बधाई।

rakesh tiwari गुरु अक्तू॰ 27, 10:17:00 am 2011  

दीप पर्व की बधाई..

rakesh tiwari गुरु अक्तू॰ 27, 10:19:00 am 2011  

दीप पर्व की बधाई..

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP