राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

रविवार, नवंबर 07, 2010

राजधानी में होंगे ३० खेल

छत्तीसगढ़ ओलंपिक के मिनी ओलंपिक के लिए राजधानी में ३० खेलों के आयोजन का फैसला किया गया है। इन खेलों में रायपुर जिले के १५ विकासखंडों के ३२ सौ से ज्यादा खिलाड़ी जुटेंगे। रायपुर जिला ही पूरे राज्य में ऐसा एक मात्र जिला है जहां पर इतने ज्यादा खेलों का आयोजन हो रहा है। रायपुर जिले ने ही खेलमंंत्री लता उसेंडी की मंशा के अनुरुप हर खेल को शामिल करने का काम किया है। बाकी जिलों में ५ से लेकर १० खेलों का ही आयोजन होगा। खेल विभाग ने जिलों को १५ खेलों के आयोजन की ही अनुमति दी है, इसके बाद भी रायपुर जिले ने ३० खेलों का आयोजन करने की हिम्मत दिखाई है।
छत्तीसगढ़ ओलंपिक में मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के निर्देश के बाद सभी जिलों में २० नवंबर से पहले जिला स्तर के आयोजन करवाने की तैयारी चल रही है। रायपुर में भी इसकी तैयारी की जा रही है। रायपुर की तैयारी बाकी जिलों से इस लिहाज में अलग है कि यहां पर जिला खेल विभाग ने ३० खेलों का आयोजन करने का मन बनाया है। वरिष्ठ खेल अधिकारी राजेन्द्र डेकाटे कहते हैं कि हमारा मकसद हर खेल के खिलाडिय़ों को मौका देना है। उन्होंने कहा कि इसके आयोजन में हमें कोई परेशानी नहीं होगी क्योंकि पूरी योजना बनाकर हम काम कर रहे हैं।
ये खेल होंगे शामिल
एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि हमने उन ३० खेलों को शामिल किया है जिन खेलों के खेल संघ हमारे विभाग से मान्यता प्राप्त हैं। इन खेलों में तैराकी, तीरंदाजी, एथलेटिक्स, बास्केटबॉल, फुटबॉल, हैंडबॉल, कबड्डी, कराते, खो-खो, नेटबॉल, वालीबॉल, भारोत्तोलन, कुश्ती, हॉकी, रग्बी फुटबॉल, बैडमिंटन, कैरम, टेबल टेनिस, साफ्टबॉल, म्यूथाई, टेनीक्वाइट, वूशू, थ्रोबॉल, जूडो, कयाकिंग-कैनोइंग, जम्प रोप, शरीर सौष्ठव के साथ लोक खेल भी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि चार खेलों कबड्डी, खो-खो, फुटबॉल और वालीबॉल के आयोजन पहले ब्लाक स्तर पर होंगे इसके बाद इनकी टीमें जिल में आकर खेलेंगी। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि सभी खेलों के आयोजन के लिए मैदान तय कर दिए गए हैं। उद्घाटन और समापन स्पोट्र्स काम्पलेक्स के आउटडोर स्टेडियम में होगा। संभावित तिथि १७ से २० नवंबर तय की गई है।
ब्लाकों से आएंगे २००० हजार खिलाड़ी
श्री डेकाटे ने बताया कि ३० खेलों के आयोजन में रायपुर जिले के १५ ब्लाकों से ही २००० से ज्यादा खिलाड़ी आ जाएंगे। इसके अलावा राजधानी के करीब १२ सौ खिलाड़ी शामिल होंगे। कुल मिलाकर ३२ सौ से ज्यादा खिलाड़ी स्पर्धा में शामिल होंगे। उन्होंने बताया कि हर खेल के लिए अलग-अलग अनुमानित खिलाडिय़ों की संख्या तय कर दी गई है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि पुरुष वर्ग में १७५२, महिला वर्ग में ११९५ खिलाडिय़ों के साथ दोनों वर्गों में कोच और मैनेजर मिलाकर करीब ३०० आ जाएंगे।
खिलाडिय़ों को ठहराने में नहीं होगी परेशानी
तीन हजार से ज्यादा खिलाडिय़ों के राजधानी में ठहराने की व्यवस्था कहा की जाएगी के सवाल पर श्री डेकाटे ने कहा कि हमने पूरी व्यवस्था कर ली है और किसी भी तरह से खिलाडिय़ों को ठहराने में परेशानी नहीं होगी। उन्होंने बताया कि स्पोट्र्स काम्पलेक्स के आउटडोर स्टेडियम के कमरों में ही एक हजार से ज्यादा खिलाडिय़ों को ठहराने की व्यवस्था की गई है। इसी के साथ राजघानी की धर्मशालाओं और अन्य स्थानों पर खिलाडिय़ों के ठहराने की व्यवस्था की जा रही है। सभी स्थान तय कर दिए गए हैं। 

2 टिप्पणियाँ:

ali रवि नव॰ 07, 04:26:00 pm 2010  

अच्छी खबर है ! देखें खिलाड़ी क्या हौसले लेकर मैदान में उतरते हैं ?

सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी रवि नव॰ 07, 10:54:00 pm 2010  

कितने राष्ट्रीय रिकार्ड टूटने की संभावना है?

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP