राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

शुक्रवार, जुलाई 09, 2010

खुशबू फूलों की...

सभी को मन भाती है
खुशबू फूलों की
फिजा को महका देती है
खुशबू फूलों की
किसी से भेदभाव नहीं करती
खुशबू फूलों की
सभी को समान प्यार देती है
खुशबू फूलों की

3 टिप्पणियाँ:

सूर्यकान्त गुप्ता शुक्र जुल॰ 09, 08:10:00 am 2010  

प्रकृति तो भेदभाव जानती ही नही है। वह तो हम जैसे लोग हैं जो प्रकृति के विनाश के लिये कटिबद्ध हो चले हैं, पर्यावरण को प्रदूषित कर। बहुत सुंदर रचना।

Akhtar Khan Akela शुक्र जुल॰ 09, 08:32:00 am 2010  

gvaalani saahb aapne bat to thik khi lekin kai baar naak men zukaam vaalon ko khusbu fulon ki aek jesi nhin lgti . akhtar khaan akela kota rajsthan

Maria Mcclain शनि जुल॰ 10, 12:08:00 am 2010  

Nice blog & good post. overall You have beautifully maintained it, you must try this website which really helps to increase your traffic. hope u have a wonderful day & awaiting for more new post. Keep Blogging!

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP