राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

बुधवार, अप्रैल 21, 2010

ये है कांगेर धारा-जिसका नजारा लगता है प्यारा- बस्तर यात्रा -8

बस्तर की कुटुमसर गुफा जाने के रास्ते में 6 किलो मीटर की दूरी पर एक कांगेर धारा है। यहां का नजारा वास्तव में आंखों को प्यारा लगता है। अब यह बात अलग है कि हम जब वहां गए थे तो वहां पानी कम था, लेकिन जितनी गर्मी में हम वहां गए थे, उस गर्मी में कम पानी ने भी हमें बहुत सकुन दिया। चारों तरफ हरियाली और कल-कल करती बहती धारा मानो कहती है कि जिस सकुन की तुम्हें तलाश है, वह तो तुम्हें मेरे ही पास मिल सकता है। सच में वहां इतना अच्छा लग रहा था कि मन हो रहा था कि वहां पर घंटों बैठा जाए, लेकिन क्या करते समय कम था, ऐसे में हम वहां बुमश्किल आधे घंटे ही रूक सके क्योंकि साथ में एक गाइड था जिनको हमें कुटुमसर गुफा दिखाने के बाद दूसरे पर्यटकों को भी गुफा का भ्रमण करवाना था। ऐसे में उनके समय का तो हमें ख्याल रखना ही था। फिर सोचा था कि वापसी में एक बार इसका नजारा किया जाएगा, लेकिन वापसी के बाद हमें तीरथगढ़ जलप्रपात भी जाना था। सो हम वहां फिर न जा सके। हम आपको कल तीरथगढ़ जलप्रपात का नजारा करवाएंगे फिलहाल कांगेर धारा का नजारा करके अपनी गर्मी भगाने का काम करें।

8 टिप्पणियाँ:

Udan Tashtari बुध अप्रैल 21, 06:54:00 am 2010  

बड़ी बेहतरीन यात्रा रही होगी...चित्र सब बयान कर रहे हैं.

Sadhana Vaid बुध अप्रैल 21, 08:06:00 am 2010  

आपके ताज़गी और शीतलता भरे चित्रों से मन को बहुत सुकून मिला और जगदलपुर में बिताये अपने जीवन के सर्वोत्तम चार सालों का हर पल मस्तिष्क में कौंध गया ! चित्रकूट जल प्रपात के चित्र भी अवश्य दें ! धन्यवाद एवं आभार !

राजकुमार ग्वालानी बुध अप्रैल 21, 08:41:00 am 2010  

साधना जी,
चित्रकूट पर पोस्ट हम दे चुके हैं, आप चाहें तो उसे यहां देख सकती हैं.
http://rajtantr.blogspot.com/2010/04/5.html

ललित शर्मा बुध अप्रैल 21, 08:56:00 am 2010  

बहुत ही बढिया, बस्तर भ्रमण करवा रहे हैं।
आपका आभार

ताऊ रामपुरिया बुध अप्रैल 21, 10:39:00 am 2010  

बहुत ही आनंद आया आपकी इस यात्रा के चित्र देखकर.

रामराम.

अजित वडनेरकर शनि अप्रैल 24, 07:53:00 am 2010  

बढ़िया चल रही है यात्रा। शानदार चित्र।

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP