राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

रविवार, जून 06, 2010

क्या पापा का कोई बाप नहीं है ब्लाग जगत में

ब्लाग जगत के कई ब्लागर मित्र किसी पापा नाम के एक ऐसे गंदे इंसान से परेशान हैं जो इंसान किसी के भी ब्लाग में गंदगी करके चल देता है। यह गंदा इंसान हमारे ब्लाग में भी आया, हमने तो उसे कह दिया है कि ऐसे गंदे लोगों को मुंह लगाना हम पसंद नहीं करते हैं जिनकी कोई जात और औकात का पता न हो। अगर दम है तो अपनी औकात के साथ सामने आए फिर बात करें। इसके बाद भी यह गंदा इंसान एक फिर से हमारे ब्लाग में आया। हमने फिर से उसे दुत्कारने के साथ ललकारा कि औकात है तो अपने सही वजूद के साथ सामने आए। हम तो यह पता लगाने की कोशिश में हैं कि आखिर यह गंदा इंसान कहां का है। हम तकनीकी रूप से उतने जानकार नहीं हंै। ऐसे में हम ब्लागर मित्रों से यह पूछ रहे हैं कि क्या इस पापा का कोई बाप अपने ब्लाग जगत में नहीं है जो यह पता लगा सके कि आखिर यह गंदा इंसान कौन है। इसके पहले हमारे ब्लाग में कोई तहसीलदार नाम से आता था, इसका पता हमने लगा लिया था। पता चलने के बाद इसका आना बंद हो गया तो अब एक नए नाम से कोई गंदगी फैलाने का काम कर रहा है। इस गंदगी फैलाने वाले इंसान को रोकना जरूरी है। इसको रोकने का काम कौन कर सकता है यह काम, जरूर बताए। 

11 टिप्पणियाँ:

Udan Tashtari रवि जून 06, 08:09:00 am 2010  

पापा को भला कौन गोद लेगा? :)

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन रवि जून 06, 08:38:00 am 2010  

तहसीलदार ही प्रमोशन होकर पापा हो गया होगा. जो भी है - गन्दगी फ़ैलाने वालों की धर-पकड़ तो होनी ही चाहिए

Akhtar Khan Akela रवि जून 06, 08:39:00 am 2010  

bhaai jaan preshaan naa ho kyi log pdosiyion ki olaaden hoti hen jo aesi hi uljlul hrkte krte hen. akhtar khan akela kota rajsthan mera blog akhtarkhanakela.blogspot.com he

ललित शर्मा रवि जून 06, 09:10:00 am 2010  

बहुत ही गंदगी फ़ैला रहा है।

कोई ना कोई इसका बाप भी प्रकट होगा।
जो इसकी वाट लगाएगा।

Ratan Singh Shekhawat रवि जून 06, 01:03:00 pm 2010  

ऐसे लोगों की टिप्पणी देखते ही मिटा दें यही इनका इलाज है |

शिवम् मिश्रा रवि जून 06, 03:06:00 pm 2010  

शेखावत जी से १०० % सहमत |

राजकुमार सोनी रवि जून 06, 06:10:00 pm 2010  

समाज में इस तरह के कथित वीर मौजूद रहते ही हैं
आप ऐसे वीरों का मुकाबला करना भली-भांति जानते हैं। चिन्ता मत करिए... पापाजी का पता चल जाएगा।

डा० अमर कुमार रवि जून 06, 08:27:00 pm 2010  


मैं ही सुपारी ले लूँ क्या ?

मनोज कुमार रवि जून 06, 11:47:00 pm 2010  

बहिस्कार किया जाना चाहिए।

सूर्यकान्त गुप्ता सोम जून 07, 07:35:00 am 2010  

पापा को पा पा और लगा ………………

अन्तर सोहिल सोम जून 07, 12:21:00 pm 2010  

सभी परेशान हैं जी ऐसे लोगों से

प्रणाम

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP