राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

मंगलवार, जून 22, 2010

ब्लागवाणी बंद-ब्लागर तंग

ब्लागवाणी पर न जाने क्यों कर 18 जून से ताला लग गया है। हम ज्यादा ब्लाग देख नहीं पाते हैं ऐसे में हमें इसका ठीक-ठीक कारण मालूम नहीं है। लेकिन हम इतना जरूर जानते हैं कि ब्लागवाणी के बंद होने से ब्लागर जरूर तंग हो गए हैं। तंग इसलिए हो गए हैं क्योंकि जहां तक हमारा मानना है कि ब्लागों में सबसे ज्यादा पाठक ब्लागवाणी के माध्यम से ही आते हैं।
हिन्दी ब्लागजगत को नई ऊंचाई देने का काम हमारे ख्याल से तो ब्लागवाणी ने किया है। ब्लागवाणी नहीं होती तो शायद हिन्दी के चिट्ठों की इतनी पहचान नहीं होती। वैसे एक और एग्रीगेटर चिट्ठा जगत है, पर ब्लागवाणी को लोग ज्यादा पसंद करते हैं कहा जाए तो गलत नहीं होगा। ब्लागवाणी पर पिछले 18 जून के बाद से ताला लगने जैसी स्थिति है। ब्लागवाणी खुल तो रहा है, पर 18 जून की ही पोस्ट नजर आ रही है। इसके आगे की पोस्ट का नजर न आना यह बताता है कि किसी भी कारण से ब्लागवाणी की बोलती फिलहाल तो बंद है। 
अब यह बोलती किसी तकनीकी कारण से बंद हुई है या और किसी कारण से यह कम से कम हम नहीं जानते हैं। हमारे ब्लागर मित्रों को कारण मालूम हो तो जरूर बताएं खासकर वे ब्लागर मित्र जो तकनीकी जानकार हैं।
ब्लागवाणी के अचानक बंद होने का सबको अफसोस है। सभी चाहते हैं कि ब्लागवाणी में अगर कोई तकनीकी खामी आई है तो उसे जल्द ठीक करके प्रारंभ किया जाए। वैसे हमें लगता नहीं है कि कोई तकनीकी खराबी होगी, संभवत: तकनीकी खराबी ठीक करने में इतना समय नहीं लगता है जितने समय से ब्लागवाणी बंद है। फिर आखिर क्या कारण है, कारण का सामने आना जरूरी है।  

11 टिप्पणियाँ:

Udan Tashtari मंगल जून 22, 08:20:00 am 2010  

इन्तजार कर रहे हैं ब्लॉग्वाणी के स्वस्थय होने का.

Suresh Chiplunkar मंगल जून 22, 09:55:00 am 2010  

सभी को बेसब्री से इन्तज़ार है…

उन्हें भी जो ब्लागवाणी को पसन्द करते हैं और उन्हें भी जो ब्लागवाणी की आलोचना करने का कोई मौका नहीं चूकते।

ब्लागवाणी कई नये फ़ीचर्स के साथ लौटेगा, लेकिन अभी लगता है कि मामला गम्भीर रुप से गड़बड़ है… कारण तो सिर्फ़ मैथिली जी और सिरिल जी ही जानते हैं, बाकी सब या तो कयास है या अफ़वाहें… :)

अन्तर सोहिल मंगल जून 22, 10:28:00 am 2010  

आशा है कि ब्लागवाणी जल्द स्वस्थ होकर आयेगा।

वैसे मैं तो गूगल रीडर का ज्यादा प्रयोग करता हूं। मेरे पसन्दीदा ब्लाग तो मिल जाते हैं, मगर नये चिट्ठों का पता नहीं चल पा रहा।

प्रणाम

अन्तर सोहिल मंगल जून 22, 10:35:00 am 2010  

पहले तो कुछ ब्लागरों ने ब्लागवाणी पर उल्टे-सीधे तीर चलाये। अब कुछ दिन ब्लागवाणी बीमार हो गई तो सभी परेशान हो रहे हैं जी।
बेशक अन्य एग्रीगेटर सेवा देते रहें, मगर ब्लागवाणी के कार्य और सहयोग की तुलना नहीं हो सकती है।

ललित शर्मा मंगल जून 22, 11:24:00 am 2010  

सांई राम राम

आपका कहना सही है।
ब्लागवाणी की निहायत ही जरुरत है।
लगता है,अब हड़ताल करनी पड़ेगी।
ब्लागवाणी आने पर ही लिखा जाएगा।

शिवम् मिश्रा मंगल जून 22, 01:11:00 pm 2010  

क्या सच में इतना प्रभाव पड़ा है ब्लॉगवाणी के बंद होने का कि हम लोग अपनी पोस्ट भी नहीं लिख रहे है .............क्या यह गलत नहीं ?? मेरे हिसाब से हमे अपना काम करते रहना चाहिए|

moolchandani मंगल जून 22, 02:35:00 pm 2010  

साईराम
चिन्ता मत कोरू नी
ब्लागवाणी भी चालू होजऐगी
और अपनी दुकान भी
बहुणत दिनों से साईराम तु म
नड्डा फैक्टी में नहीं आए नी
जारा आओ नी बैठके बात करेंगे
बाकी चिन्ता मत करो नी
अंजोददास का ठिकाना खोज लियो है

moolchandani मंगल जून 22, 02:39:00 pm 2010  

ڪـوڏر کڻ ڪـوڏअपने समाज की भाषा में एक जरूरी दस्तावेज भेज रहियो हूं। जरा पढ़के... समझ गयो न भाया
जय झूलेलाल.
अटलानी बाबा

!ڪـوڏر او ڪـوڏر

!منھنجي لوھي آھي ڪـوڏر - وھوا

!ساري سوني آھي ڪـوڏر - وھوا

!ھيرا موتي آھي ڪـوڏر - وھوا

ڪـوڏر او ڪـوڏر٠٠٠٠

!نالو کوٽي ٿي ڪـوڏر - شپ٬ شپ٬ شپ

!پاڻي ڇوڙي ٿي ڪـوڏر - شپ٬ شپ٬ شپ

!ٻارو جوڙي ٿي ڪـوڏر - شپ٬ شپ٬ شپ

ڪـوڏر او ڪـوڏر٠٠٠٠

!ڀورا ڀنڊ کڻي آ ڪـوڏر - جلدي جلد آ ڀاءَ ڙي

!سومر سانڊ کي آ ڪـوڏر - تڪـڙو تڪـڙو آءُ ڙي

!راضي رِند کڻي آ ڪـوڏر - تڪـڙو تڪـڙو آءُ ڙي

ڪـوڏر ڙي ڪـوڏر٠٠٠٠

!منھنجو ڏاڏو ڪـوڏاريو ٠٠٠ وھوا

!منھنجو بابو ڪـوڏاريو ٠٠٠٠ وھوا

!ھاري ھرڪـو ڪـوڏاريو ٠٠ وھوا

ڪـوڏر او ڪـوڏر٠٠٠٠

!ڪـوڏر ڪـا بخاريءَ جي - وھوا

!ڪـوڏر ھاريءَ ناريءَ جي - وھوا

!ڪـوڏر سنڌڙي ساريءَ جي - وھوا

ڪـوڏر او ڪـوڏر٠٠٠٠

हमारीवाणी.कॉम मंगल जून 22, 03:24:00 pm 2010  

आ गया है ब्लॉग संकलन का नया अवतार: हमारीवाणी.कॉम



हिंदी ब्लॉग लिखने वाले लेखकों के लिए खुशखबरी!

ब्लॉग जगत के लिए हमारीवाणी नाम से एकदम नया और अद्भुत ब्लॉग संकलक बनकर तैयार है। इस ब्लॉग संकलक के द्वारा हिंदी ब्लॉग लेखन को एक नई सोच के साथ प्रोत्साहित करने के योजना है। इसमें सबसे अहम् बात तो यह है की यह ब्लॉग लेखकों का अपना ब्लॉग संकलक होगा।

अधिक पढने के लिए चटका लगाएँ:
http://hamarivani.blogspot.com

SELECTION - COLLECTION SELECTION & COLLECTION बुध जून 23, 12:31:00 am 2010  

अंकल ! टेंशन लेने का नही ! ब्लॉग वाणी अतिशिघ्र ही अवतरित होगा .....धीरज रखे !

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP