राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

शुक्रवार, अक्तूबर 29, 2010

सलमान का सम्मान-छत्तीसगढ़ का अपमान

सलमान खान के छत्तीसगढ़ में किए गए सम्मान को लेकर राज्य में बवाल मच गया है। बवाल इसलिए मचा है क्योंकि सलमान की वजह से एक तरह से राज्य का अपमान हो गया है। राज्य का अपमान इस तरह से की राज्य के राज्यपाल और मुख्यमंत्री तक को सलमान के कारण कतार में रहना पड़ा। सलमान को छत्तीसगढ़ की जमीं पर लाने वाले वीडियोकान कंपनी के निदेशक अनिरूद्द धूत ही सरकारी मंच पर छाए रहे। सलमान तो 10 मिनट के लिए दो करोड़ लेकर चले गए, लेकिन पीछे छोड़कर हैं सिर्फ बवाल। उनका जिस तरह से मंच पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री से सम्मान करवाया गया, उसको कांग्रेसी राज्य का अपमान मान रहे हैं। वास्तव में यह सोचने वाली बात है कि जिस सलमान खान पर कई तरह के आरोप हैं। ऐसे अपराधी का सम्मान करने से पहले राज्य सरकार के नुमाइंदों ने सोचा क्यों नहीं।
सलमान खान का छत्तीसगढ़ आना राज्य के सलमान प्रेमियों के लिए एक सौगात थी, लेकिन यह सौगात किसी को रास नहीं आई है। एक तो सलमान का महज 10 मिनट के लिए आना सबको नागवार लगा, फिर उपर से यह हुआ कि एक अपराधी का जिस तरह से मंच पर सम्मान किया गया, वह बात किसी के गले नहीं उतरी रही है। यह बात जग जाहिर है सलमान पर हिरण का शिकार करने के आरोप के साथ मुंबई में अपनी कार से कुछ लोगों को कुचलने का आरोप है। वैसे भी सलमान खान हमेशा विवादों में रहे हैं। सलमान को एक कलाकार के रूप में बुलाना गलत नहीं था। लेकिन सरकार की इतनी भी क्या मजबूरी थी कि सलमान खान को मंच पर वीडियोकान के निदेशक लेकर आए और राज्यपाल शेखर दत्त, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ दो और राज्यों के मुख्यमंत्री नीचे बैठे रहे। फिर ऐसी क्या मजबूरी रही कि सलमान का सम्मान राज्यपाल और मुख्यमंत्री से करवाया गया। छत्तीसगढ़ के राज्यपाल शेखर दत्त के साथ तीन राज्यों के मुख्यमंत्रियों को मंच पर सलमान खान की वजह से कतार में रहना पड़ा। वास्तव में यह शर्म की बात है कि एक अपराधी के लिए मुख्यमंत्री कतार में खड़े थे। क्या इनको खुद अपने पर शर्म नहीं आई। मुख्यमंत्रियों की बात छोड़ भी दी जाए, क्या अपने राज्यपाल ने एक बार भी यह नहीं सोचा कि वे क्या करने जा रहे हैं। शेखर दत्त तो बहुत सुलझे हुए माने जाते हैं, फिर वे कैसे एक अपराधी का सम्मान करने के लिए सामने आ गए।
सलमान के सम्मान को लेकर कांग्रेसियों ने मोर्चा खोल दिया है, उनका  यह मोर्चा गलत नहीं है। एक तो सलमान महज 10 मिनट के लिए आए तो दो करोड़ का चुना लगा कर चले गए, उपर से राज्य का मान बढ़ाने की बजाए अपमान हो गया। खबर तो यह भी है कि माना विमानतल में सलमान के सुरक्षा गार्डों ने माना विमानतल के एक कर्मचारी के साथ ही सलमान के प्रशंसकों की पिटाई भी की है। इस मामले की कोई लिखित शिकायत तो नहीं हुई है, लेकिन खबर सच जरूर है। यानी सलमान के दंबग सुरक्षा गार्डों ने दंबगई के साथ नंगाई भी दिखाई और साफ बचकर चले गए। 

1 टिप्पणियाँ:

ali शनि अक्तू॰ 30, 12:21:00 am 2010  

मामला चिंतनीय है !

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP