राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

शनिवार, सितंबर 25, 2010

देश को शर्मसार न करें: कपिल

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान कपिल देव ने मैच फिक्सिंग पर कहा कि खिलाडिय़ों को देश को शर्मसार नहीं करना चाहिए। गलत काम का नतीजा हमेशा गलत होता है, इससे बचने का प्रयास करें।
अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में उन्होंने मैच फिक्सिंग पर पूछे जाने पर ज्यादा खुलकर तो कुछ बात नहीं की, पर उन्होंने कहा कि जो हो रहा है, गलत है। उन्होंने कहा कि खिलाडिय़ों को कम से कम ऐसा नहीं करना चाहिए। ऐसा करने से देश शर्मसार होता है। भारतीय टीम के बारे में उन्होंने कहा कि भारतीय टीम में इस समय बहुत अच्छे खिलाड़ी हैं। भारतीय टीम नंबर वन बनी तो उसमें दम है। टीम के पास सचिन तेंदुलकर, वीरेन्द्र सहवाग, युवराज सिंह, सौरभ गांगुली, महेन्द्र सिंह धोनी, अनिल कुम्बले जैसे खिलाड़ी थे। हम लोग जब खेलते थे तो सोचते थे कि क्या कभी हमारी भारतीय टीम नंबर वन बन पाएगी। आज हम लोगों का सपना सच हुआ है। नंबर वन पर पहुंचने के बाद इस पर कायम रहना कठिन होता है। उन्होंने कहा कि आस्ट्रेलिया की टीम १५ साल नंबर वन रही है। युवराज के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि किसी भी खिलाड़ी को मौका मिलता है तो उसका फायदा उठाना चाहिए। आज इतनी ज्यादा प्रतिस्पर्धा है कि जो खिलाड़ी अपने को साबित नहीं कर पाएगा, वह बाहर हो जाएगा।
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि आज ३६५ दिन मैच हो रहे हैं ऐसे में खिलाडिय़ों का फिटनेस से जुङाना आम बात है। उन्होंने अपने दिनों को याद करते हुए कहा कि ऑॅफ सीजन में हम लोग फिटनेस पर ध्यान देते थे, तब हमारी फिटनेस सौ नहीं बल्कि दो सौ प्रतिशत ठीक रहती थी। भारतीय टीम के बार-बार फाइनल में पहुंच कर हारने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस बार उम्मीद कर सकते हैं कि हमारी टीम विश्व कप के फाइनल में पहुंचे तो न हारे। उन्होंने कहा कि एक समय उनको लगता था कि सुनील गावस्कर के बाद उनके जैसा कोई खिलाड़ी नहीं हो सकता है, लेकिन भारतीय टीम में उनके जैसे एक नहीं बल्कि पांच खिलाड़ी आए। उन्होंने कहा कि सबका एक समय होता है।
एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि खेल संघों में खिलाडिय़ों को आने नहीं दिया जाएगा, वे जानते हैं। उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने खेल संघों के लिए जो नियम बनाए हैं अच्छे हैं। उन्होंने कहा कि खेल संघों में राजनेता और व्यापारियों का होना गलत नहीं है, लेकिन खिलाडिय़ों को भी रखना चाहिए। रायपुर के स्टेडियम के बारे में उन्होंने कहा कि उन्होंने ऐसे स्टेडियम के यहां होने की कल्पना नहीं की थी। कपिल देव के साथ स्टेडियम में लॉन टेनिस संघ के अध्यक्ष विक्रम सिंह सिसोदिया, सचिव गुरूचरण सिंह होरा के साथ छत्तीसगढ़ क्रिकेट संघ के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

4 टिप्पणियाँ:

ओशो रजनीश शनि सित॰ 25, 10:26:00 pm 2010  

अति सुन्दर और ज्ञानवर्धक जानकारी ........ आभार

यहाँ भी आये और अपनी बात कहे :-
क्यों बाँट रहे है ये छोटे शब्द समाज को ...?

गजेन्द्र सिंह रवि सित॰ 26, 01:20:00 am 2010  

बहुत सुन्दर और ज्ञानवर्धक जानकारी

पढ़िए और मुस्कुराइए :-
क्या आप भी थर्मस इस्तेमाल करते है ?

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari रवि सित॰ 26, 12:29:00 pm 2010  

जानकारी प्रकाशित करने के लिए धन्‍यवाद भईया.

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP