राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

रविवार, अगस्त 01, 2010

मुख्यमंत्री पर किया सबने विश्वास, अब होगा खेलों का विकास

प्रदेश की खेल बिरादरी ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह पर विश्वास करते हुए उनको राज्य के खेलों का भी मुखिया बना दिया है। अब सभी खेल संघों को इस बात का भरोसा है कि जहां राज्य में खेलों का तेजी से विकास होगा, वहीं राष्ट्रीय खेलों का आयोजन ऐतिहासिक होगा। यह मानना है वालीबॉल संघ के महासचिव मो. अकरम खान का। उनसे की गई बातचीत के अंश प्रस्तुत हैं।
0 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ओलंपिक संघ के अध्यक्ष बन गए हैं।  अब इससे खेलों में क्या फायदा होगा?
00 राज्य के  सभी खेल संघों के पदाधिकारी काफी समय से यह चाह रहे थे कि राज्य के खेलों के मुखिया भी डॉ. रमन सिंह होंगे। अब यह सपना पूरा हो गया है तो सभी खेल संघों को इस बात का भरोसा है कि राज्य में खेलों का तेजी से विकास होगा।
0 37वें राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी छत्तीसगढ़ को मिली है, इसके बारे में क्या सोचते हैं?
00 छत्तीसगढ़ को आज अगर राष्ट्रीय खेलों की मेजबानी मिली है तो इसके पीछे भी मुख्यमंत्री की खेलों में विशेष रूचि ही प्रमुख कारण है। इसमें कोई दो मत नहीं है कि छत्तीसगढ़ में होने वाले राष्ट्रीय खेल ऐतिहासिक होंगे।
0 क्या राष्ट्रीय खेल समय पर होंगे?
00 जिस तरह से छत्तीसगढ़ की तैयारी है और मुख्यमंत्री ने कहा भी है कि राष्ट्रीय खेलों का आयोजन समय पर होगा, उससे लगता है कि कम से कम छत्तीसगढ़ में यह आयोजन समय पर होगा।
0 क्या मुख्यमंत्री अब वालीबॉल संघ के भी अध्यक्ष बनेंगे?
00 मुख्यमंत्री को वालीबॉल संघ का अध्यक्ष बनाने का आफर बहुत पुराना है। पिछली बार भी हमारे संघ ने ऐेसा प्रयास किया था, पर उस समय मुख्यमंत्री सहमत नहीं हुए थे, अब जबकि वे ओलंपिक संघ के अध्यक्ष बने हैं तो उनके सामने एक बार फिर से वालीबॉल संघ का अध्यक्ष बनने का आफर रखा गया है, आशा है वे इस आॅफर को स्वीकार करेंगे।
0 आपको ओलंपिक संघ के सचिव पद का दावेदार कहा जा रहा है?
00 कई खेल संघों के पदाधिकारियो का ऐसा मानना है कि मैं इस पद के लिए उपयुक्त हो सकता हूं। अगर मुख्यमंत्री चाहेंगे और मुझे यह जिम्मेदारी दी जाएगी तो जरूर इस जिम्मेदारी को उठाने का काम करूंगा।
0 छत्तीसगढ़ में होने वाली बैटन रिले के बारे में क्या सोचते हैं?
00 इसमें कोई दो मत नहीं है कि छत्तीसगढ़ में जिस तरह की तैयारी चल रही है, वैसी तैयारी और किसी राज्य में नहीं की गई हैं। यहां पर बैटन रिले का आयोजन यादगार और ऐतिहासिक होगा।
0 खेल जगत में इन दिनों जिस तरह से यौन शोषण की खबरें आ रही हैं उसके बारे में क्या कहते हैं?
00 जिस किसी भी कोच पर इस तरह का आरोप साबित हो जाता है, उसको खेल जगत से हमेशा के लिए अलग कर देना चाहिए। इसी के साथ यह जरूरी है कि ज्यादा से ज्यादा महिला खिलाड़ी कोच बनने की दिशा में कदम बढ़ाएं।
0 राज्य में वालीबॉल की क्या स्थिति है?
00 राज्य में वालीबॉल ही एक ऐसा खेल है जो हर गांव में खेला जाता है। हमारे संघ ने सरकार को अकादमी बनाने का प्रस्ताव दिया है, मंजूरी मिलते ही इसे प्रारंभ किया जाएगा। इसी के साथ साई से भी इस पर चर्चा चल रही है।
0 वालीबॉल में प्रशिक्षकों की क्या स्थिति है?
00 बहुत कम प्रशिक्षक हैं। हर जिले में एक महिला और एक पुरुष प्रशिक्षक का होना अनिवार्य है। सरकार को ज्यादा से ज्यादा प्रशिक्षक रखने पर ध्यान देना चाहिए। सीनियर खिलाड़ियों को सरकार एनआईएस करवाने भेजे और उत्कृष्ट खिलाड़ियों को प्रशिक्षक की नौकरी में रखे।
0 क्या कमी खलती है?
00 राजधानी में इंडोर स्टेडियम की कमी खलती है। इंडोर स्टेडियम के पूर्ण न हो पाने के कारण छत्तीसगढ़ के हाथ से एशियन चैंपियनशिप की मेजबानी चली गई?

2 टिप्पणियाँ:

patit pawan रवि अग॰ 01, 11:27:00 am 2010  
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
patit pawan रवि अग॰ 01, 11:29:00 am 2010  

मुख्यमंत्री पर किया सबने विश्वास, अब होगा खेलों का विकास

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP