राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

रविवार, अगस्त 15, 2010

स्वतंत्रता दिवस कब आवे है

आज स्वतंत्रता दिवस हास्य कवि सुरेन्द्र शर्मा की दो लाइनें याद आ रही हैं....



पत्नी पूछती है- ऐ जी स्वतंत्रता दिवस कब आवे है
मैं बोलयो भाग्यवान जब तू मायके जावे है।


सभी ब्लागर मित्रों और पाठकों को आजादी का पर्व मुबारक हो...

6 टिप्पणियाँ:

चिट्ठाप्रहरी टीम रवि अग॰ 15, 07:46:00 am 2010  

स्वतंत्रता दिवस कि ढेर सारी शुभकामनाएँ

एक अच्छी पोस्ट लिखी है आपने ,शुभकामनाएँ और आभार

आदरणीय
हिन्दी ब्लाँगजगत का चिट्ठा संकलक चिट्ठाप्रहरी अब शुरु कर दिया गया है । अपना ब्लाँग इसमे जोङकर हिन्दी ब्लाँगिँग को उंचाईयोँ पर ले जायेँ

यहा एक बार चटका लगाएँ


आप का एक छोटा सा प्रयास आपको एक सच्चा प्रहरी बनायेगा

अजित गुप्ता का कोना रवि अग॰ 15, 08:18:00 am 2010  

स्‍वतंत्रता दिवस पर हार्दिक बधाई।

निर्मला कपिला रवि अग॰ 15, 10:51:00 am 2010  

हा हा हा। स्वतंत्रता दिवस कि ढेर सारी शुभकामनाएँ

ब्लॉ.ललित शर्मा रवि अग॰ 15, 11:10:00 am 2010  

जो शहीद हुए आजादी के लिए
उनकी आत्मा रोती है
जो देश का है असली अधिकारी
उसके तन पे लंगोटी है
रोटी कपड़ा और मकान का
नारा तो अब बेमानी हुआ
लोकतंत्र के राजा वजीरो की
लुच्चे-टुच्चों के हाथ गोटी है


विचारोत्ते्जक लेख के लिए आभार
स्वतंत्रता दिवस की बधाई

पट्ठा प्रिंस रवि अग॰ 15, 11:53:00 am 2010  
इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.
कडुवासच रवि अग॰ 15, 07:40:00 pm 2010  

... behatreen ....svatantrataa divas kee badhaai va shubhakaamanaayen !!!

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP