राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

बुधवार, अक्तूबर 21, 2009

ये बच्चा किसका है?

एक ट्रेन के एक डिब्बे में एक डॉक्टर और नर्स सफर करते हैं। उस ट्रेन में इन दो यात्रियों के अलावा कोई नहीं रहता है। ये ट्रेन जब बिलासपुर से रायपुर पहुंचती है तो ट्रेन से उतरने पर इन दो यात्रियों के साथ एक नवजात शिशु रहता है। अब यहां पर सवाल यह है कि जो डॉक्टर है वह बच्चे का बाप नहीं है और जो नर्स है वो बच्चे की मां नहीं है तो फिर बच्चा किसका है। आपको यही बताना है कि बच्चा किसका है। ट्रेन में बच्चा पड़ा भी नहीं था। यह बात समझ ले। तो जल्दी से बताएं?

12 टिप्पणियाँ:

अरुण अरोरा बुध अक्तू॰ 21, 06:23:00 am 2009  

भईया, डाक्टर बच्चे की मां है और नर्स बच्चे का बाप है.
आदमी भी तो नर्स हो सकते हैं?

ganesh बुध अक्तू॰ 21, 08:28:00 am 2009  

अब बच्चा है तो उसका बाप भी होगा, ऐसा करते है चलिए साथ-साथ खोजते हैं जिसको पहले मिल जाए बता देगा

बेनामी,  बुध अक्तू॰ 21, 08:38:00 am 2009  

कहीं बच्चा पुराने रेल मंत्री का तो नहीं है?

sammer बुध अक्तू॰ 21, 08:54:00 am 2009  

अरे यार काहे सिर खफा रहे हैं कोई ट्रेन में छोड़ गया होगा।

ललित शर्मा बुध अक्तू॰ 21, 09:03:00 am 2009  

अरे यार सुबह-सुबह मगज खपाई ठीक नही,
अभी दिवाली मनाई कुछ तो जमा होने दो,
बहुत खर्चा हो गया है,

पी.सी.गोदियाल बुध अक्तू॰ 21, 09:30:00 am 2009  

हा-हा-हा-हा , अरे भाई सहाब बच्चा डाक्टर का है , डाक्टर साहिबा ने ट्रेन में जना उसको, नर्स की मदद से ! मैं भी तो बगल वाले कम्पार्टमेंट में ही सफ़र कर रहा था उस समय !!

बेनामी जी की टिपण्णी भी गौर फरमाने लायक है हा-हा--हा-हा

Anil Pusadkar बुध अक्तू॰ 21, 09:40:00 am 2009  

राजकुमार तुम अभी तक़ अपनी पुरानी बीट रेल्वे से बाहर निकले ही नही हो लगता है।अब तो दूसरो के फ़टे मे टांग अड़ाना छोड दो भैया।वैसे अरुण जी और गोदियाल जी ने सब बता ही दिया है,मैं बताऊंगा भी तो वो नकल ही कहलायेगा।एक बात है आईटम एक से एक ला रहे हो।

chintu बुध अक्तू॰ 21, 10:17:00 am 2009  

अनिल जी की इस बात से मैं भी सहमत हूं कि आप आईटम तो एक से एक ला रहे हैं। इसी तरह से लगे रहे।

guru बुध अक्तू॰ 21, 10:19:00 am 2009  

कमाल का जोक मारा है गुरु

राजकुमार ग्वालानी बुध अक्तू॰ 21, 10:24:00 am 2009  

अनिल जी
आपने रेलवे बीट की याद दिला दी, हम तो उसे भूल ही गए थे। उस बीट के तो कई किस्से हैं। उन पर भी लिखना पड़ेगा लगता है। वैसे राजीव गांधी के हत्यारे काने शिवरासन की किस्सा तो हम लिख ही चुके हैं। चलिए आपने रेलवे बीट की याद दिलाई इसके लिए धन्यवाद। उम्मीद है आप अपने इस छोटे भाई का हौसला इसी तरह से बढ़ाते रहेंगे। वैसे आपके लेखन के कमाल के आगे सभी फीके हैं। न जाने कहां कब किस सागर से कौैन सा मोती निकालकर अचानक पेश कर देते हैं।

rohan बुध अक्तू॰ 21, 10:27:00 am 2009  

महिला डॉक्टर का है बच्चा, समझे बच्चा

pranav बुध अक्तू॰ 21, 02:11:00 pm 2009  

हमारा एक बच्चा खो गया है, कही यह वही तो नहीं है.... हां..हां...

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP