राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

मंगलवार, अक्तूबर 27, 2009

वन-वे पूल से दो ड्राइवर एक-दूसरे को क्रास करके गुजरे

हमारे रायपुर से नागपुर के बीच दुर्ग के बाद राजनांदगांव जाने वाले मार्ग में एक ऐसा पूल पड़ता है जो वन-वे है। इस पूल पर एक समय में एक तरफ से ही चार पहिए वाहन निकल सकते हैं। पूल इतना छोटा है कि यह संभव ही नहीं है कि दोनों चरफ से चार पहिए वाहन एक साथ निकल सके। जब भी इस पूल से गुजरना होता है एक तरफ के वाहन चालकों को इंतजार करना ही पड़ता है। लेकिन एक दिन गजब हो गया एक बार हम लोग जब राजनांदगांव जा रहे थे तो हमने देखा कि ट्रकों के दो ड्राइवर एक-दूसरे को क्रास करते हुए निकल गए।

आपको अपने दिमाग की बत्ती जलाकर यही बताना है कि यह कैसे संभव हो सकता है। तो देर किस बात की है, जरा जल्दी बताएं। हम कोई इनाम तो नहीं दे सकते हैं, पर बधाई जरूर दे सकते हैं अगर आपने बता दिया तो।

10 टिप्पणियाँ:

Dipak 'Mashal' मंगल अक्तू॰ 27, 05:44:00 am 2009  

Kya Rajkumar ji aap bhi majak ke mood me hain, bachchon wale sawal :)
are do truckon ke driver hi to nikalne the na ki truck, utar ke paidal kar gaye honge cross ya cycle se...
ha ha ha

Jai Hind

Udan Tashtari मंगल अक्तू॰ 27, 07:26:00 am 2009  

हमारा दीपक ही आपके चक्रव्यूह को तोड़ने को काफी है...तो हम काहे कुछ बोलें. :)

बी एस पाबला मंगल अक्तू॰ 27, 07:59:00 am 2009  

हफ्ते में दो-चार बार तो हम भी देख लेते हैं :-)

बी एस पाबला

ajay मंगल अक्तू॰ 27, 09:01:00 am 2009  

दीपक जी ठीक कहते हैं आप भी क्या मजाक करते हैं मित्र, लगता है सुबह से सबको हंसाने के मूड में हैं

sammer मंगल अक्तू॰ 27, 09:04:00 am 2009  

एक बार हमने भी ऐसा ही नजारा देखा था जब हम पैदल नागपुर जा रहे थे

guru मंगल अक्तू॰ 27, 10:07:00 am 2009  

वाह क्या जोक मारा है गुरु

ललित शर्मा मंगल अक्तू॰ 27, 10:10:00 am 2009  

कल की उतरी नही है क्या यार-वो ड्राईवर अपुन दोनो ही थे बाईक पे, क्या सुबह-सुबह लोगों को मामु बना रहे हो? राम-राम

Mishra Pankaj मंगल अक्तू॰ 27, 10:46:00 am 2009  

अरे साहब जी सिर्फ ड्राइवर तो दस जा सकते है ना गाडी नहीं ले गए सिंपल

Anil Pusadkar मंगल अक्तू॰ 27, 10:50:00 am 2009  

तू क्यों जाता है बे उधर्।मालूम है ना उस पुल को खतरनाक घोषित हुये भी सालों हो गये हैं,एकाध दिन भसक जायेगा तो फ़िर एक शोकसभा।शार्ट कट छोड़ और नये पुल से गुज़र वंहा ड्राईवर ट्र्कों के साथ एक दूसरे को क्रास करते नज़र आयेंगे,पैदल नही।

kavaljit मंगल अक्तू॰ 27, 02:01:00 pm 2009  

कभी-कभी ऐसा मजाक भी होना चाहिए

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP