राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

शुक्रवार, जनवरी 01, 2010

नव वर्ष की नई सुबह .....



नव वर्ष की नई सुबह

ऐसी लाए खुशहाली

खुशियों ने घर-आंगन महके

रहे न कोई झोली खाली

हर इंसान साल भर चहके

हर दिन हो दीपावली

गरीबों को भी रोज खाना मिले

भगवान की रहमत हो ऐसी निराली

हमने तो साल के पहले दिन

यही दुआ है दिल से निकाली

चलिए नव वर्ष की खुशी में

पीए अब गरम चाय की एक प्याली

हमने तो सुबह उठते साथ

आज यह रचना लिख डाली

और घर की छत पर जाकर

नई सुबह की फोटो भी खींच डाली

सभी ब्लागर मित्रों और स्नेहिल पाठकों को नववर्ष की प्यार भरी बधाई...

7 टिप्पणियाँ:

संगीता पुरी शुक्र जन॰ 01, 08:27:00 am 2010  

बहुत अच्‍छा रचना .. आपके और आपके परिवार के लिए भी नया वर्ष मंगलमय हो !!

जी.के. अवधिया शुक्र जन॰ 01, 09:35:00 am 2010  

आप तथा आपके परिजनों के लिये नववर्ष मंगलमय हो!

सुलभ सतरंगी शुक्र जन॰ 01, 10:28:00 am 2010  

अतिसुन्दर....


नववर्ष की बधाई एवं शुभकामनाओं सहित
- सुलभ जायसवाल 'सतरंगी'

संजीव तिवारी .. Sanjeeva Tiwari शुक्र जन॰ 01, 10:30:00 am 2010  

राजकुमार भैया आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये.
सुख आये जन के जीवन मे यत्न विधायक हो
सब के हित मे बन्धु! वर्ष यह मंगलदयक हो.

(अजीत जोगी की कविता के अंश)

Rekhaa Prahalad शुक्र जन॰ 01, 02:15:00 pm 2010  

आपके और आपके परिवार के लिए भी नया वर्ष मंगलमय हो !

Murari Pareek शुक्र जन॰ 01, 06:39:00 pm 2010  

आपकी दुआएं कबूल हो ! और हमारी भी की आपको और आपके परिवार को आनेवाला साल खुशियों से भर्डे !!!

खबरों की दुनियाँ बुध जन॰ 05, 05:27:00 pm 2011  

अच्छी रचना , नववर्ष की शुभकामनाएं । पढ़िए "खबरों की दुनियाँ"

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP