राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

शुक्रवार, नवंबर 27, 2009

शेख समीर के वंदेमातरम् पर क्या विचार है?

हमारे एक मुसलमान मित्र हैं, शेख समीर। 26-11 को मुबंई हमले की याद में उन्होंने हमें जो एसएमएस भेजा उसका मजमून लिख रहे हैं। इस एसएएस की शुरुआत जहां उन्होंने वंदेमातरम् से की, वहीं अंत जय हिन्द, जय भारत के किया।

वंदेमातरम्

आंसू का कोई रंग नहीं
दर्द की कोई जात नहीं
क्या डराएंगे हमें ये आतंकवादी
जितना खुद कोई ईमान नहीं


इन लाइनों के नीचे लिखा गया है कि मुबंई में 26 नवंबर को हुई घटना में मारे गए आम जनों के साथ पुलिस वालों को सलाम है। अंत में लिखा है

जय हिन्द, जय भारत।

इस एसएमएस ने हमें एक बार फिर से उन मुसलमान मित्रों की याद दिला दी जो वंदेमातरम् को लेकर बिना वजह विवाद खड़ा कर रहे हैं। शेख समीर का यह एसएमएस भी एक जवाब है उन वंदेमातरम् विरोधियों को की चंद विवाद करने वालों को छोड़कर किसी मुसलमान को वंदेमातरम् या जय हिन्द बोलने और लिखने से भी परहेज नहीं है। हो सकता है किसी वंदेमातरम् विरोधी को यह बात झूठ लगे ऐसे लोग हमें अपना मोबाइल नंबर भेजे दें हम उनको वह एसएमएस भेज देंगे जो हमें हमारे मित्र ने भेजा है।

इस बारे में हमारी ब्लाग बिरादरी के मित्र क्या सोचते हैं, उनके विचार आमंत्रित हैं।

17 टिप्पणियाँ:

मनोज कुमार शुक्र नव॰ 27, 06:11:00 am 2009  

विवाद, बहस-मुबाहिसा जीवंत प्रजातंत्र का सबूत है, बशर्ते निहित स्वार्थ से रहित हो। ये विरोध करने वाले भूल जाते हैं कि इस गीत के जिन अंतरों पर ऐतराज था उन्हें हटा दिए गए थे एक अर्सा पहले। वंदे मातरम में मां की प्रशंसा है , मां को सलाम है। मां का सभी आदर करते हैं। वंदेमातरम् राष्ट्रगीत है, जिसका गाना स्वेच्छा पर निर्भर है।
26 नवंबर को हुई घटना में मारे गए आम जनों के साथ पुलिस वालों को सलाम है।

Udan Tashtari शुक्र नव॰ 27, 06:41:00 am 2009  

एक इंसान, बाद मे है हिन्दु या मुसलमान
उनसे सबके पहले, है हमारा ये हिन्दुस्तान...


जिसकी मिट्टी में हमने जन्म लिया...खेले और बड़े हुए....

यही जाहिर कतरा है समीर भाई का एस एम एस...

काश!! लोग धर्मांधता से उबर पाते!!

ललित शर्मा शुक्र नव॰ 27, 08:12:00 am 2009  

शेख समीर को सलाम है,
सबका जवाब वन्दे मातरम है।

महफूज़ अली शुक्र नव॰ 27, 09:37:00 am 2009  

वंदेमातरम्.........
जय हिन्द, जय भारत।

guru शुक्र नव॰ 27, 09:48:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

guru शुक्र नव॰ 27, 09:49:00 am 2009  

शेख समीर को एक बार नहीं 10 बार सलाम है गुरु
वंदेमातरम्

Anil Pusadkar शुक्र नव॰ 27, 10:52:00 am 2009  

सवाल हिंदू या मुसलमान का नही है राजकुमार सवाल अच्छे या बुरे इंसान का है।

ताऊ रामपुरिया शुक्र नव॰ 27, 02:20:00 pm 2009  

बहुत अनुकरणिय बात है जी. शुभकामनाएं.

रामराम.

cmpershad शुक्र नव॰ 27, 10:51:00 pm 2009  

यह सही है कि हर मुसलमान आतंकवादी नहीं होता पर हर आतंकवादी मुसलमान क्यों होता है?

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP