राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

रविवार, दिसंबर 06, 2009

चिट्ठा जगत से नहीं आ रहे पाठक?




चिट्ठा जगत में लगता है वास्तव में कोई बड़ी तकनीकी समस्या आ गई है। पिछले तीन दिनों से हर ब्लाग में पाठक संख्या शून्य हो गई है। क्या चिट्ठा जगत में कोई काम चल रहा है? अगर हां तो इसकी जानकारी किसी ब्लाग को नहीं है। हमने इस तरफ इसके संचालकों का ध्यान भी दिलाया। हम पिछले दो दिनों से मेल कर रहे हैं, पर कोई जवाब नहीं है। संभवत: इस मेल में हमने अपने ब्लाग की प्रविष्ठियों के फिर से न जुडऩे का उल्लेख किया है, इसलिए ध्यान नहीं दिया गया है। भले हमारे ब्लाग की प्रविष्ठियों के मामले में ध्यान न दिया जाए, लेकिन ब्लागों में पाठक संख्या क्यों शून्य है, इस पर तो ध्यान दिया जाना चाहिए। जितनी भी नई-पुरानी पोस्ट है सबमें टिप्पणियों की संख्या दिख रही है, लेकिन पाठक संख्या गायब है।



हमने जो मेल भेजा है, उसका भी मजमून पेश है-


महोदय


हमारे ब्लाग राजतंत्र की पोस्टों की चर्चा दूसरे ब्लागों में लगातार होने के बाद भी उसकी प्रविष्ठियों को हवाले के साथ जोड़ा नहीं जा रहा है। यह सिलसिला हमारे साथ काफी लंबे समय से चल रहा है। एक बार हमने पहले मेल से सूचना दी थी, तब आपकी तरफ से मेल आया था कि अपने ब्लाग का पता और उस चिट्ठे का लिंक दें, हमने दिया था, पर फिर भी हमारी प्रविष्ठियों को नहीं जोड़ा गया। इधर नवंबर माह में दो दिनों में हमारी चार प्रविष्ठियों नहीं जुड़ीं। इसके पहले भी इसी माह में दो और प्रविष्ठियों को नहीं जोड़ा गया। हो सकता है और भी प्रविष्ठियां हों जिस पर हमारी नजरें न पड़ी हों। ऐसे में हमें मजबूरन एक पोस्ट लिखनी पड़ी। इस पोस्ट के बाद कई मित्रों ने कहा कि हो सकता है तकनीकी समस्या हो।



हम नहीं जानते हैं कि यह कोई तकनीकी समस्या है या फिर और कुछ कारण लेकिन हमारे साथ ही ऐसा लगातार क्यों हो रहा है। अभी दो दिसंबर को ब्लाग चर्चा मुन्ना भाई की.. में हमारी एक पोस्ट बिग-बी असली पा की कुछ तो मदद कर दीजिए वो मुन्नी भाभी कू मिलने वास्ते इदर आयला था पण की चर्चा हुई लेकिन इसको भी हमारी प्रविष्ठियों में नहीं जोड़ा गया। अब इसे हम क्या समझे। कृपया बताने का कष्ट करें कि ऐसा क्यों हो रहा है। वैसे हमें भी लगता है कुछ न कुछ तकनीकी समस्या है। चिट्ठा जगत में हमारी जो भी पोस्ट आज दिखाई पड़ रही हैं, उन सभी में पाठक संख्या 0 है। यह तो तकनीकी समस्या ही लगती है। कई बार जितनी टिप्पणियां रहती हैं उससे ज्यादा संख्या दिखती है। कृपया ध्यान दें।

4 टिप्पणियाँ:

ललित शर्मा रवि दिस॰ 06, 09:40:00 am 2009  

ये चार दिन से हो रहा है, नई पुरानी सभी पोस्टों मे पाठक संख्या नही दिख रही है। परसों ललित डाट काम का सक्रियता क्रमांक 124 और आज 139 है ये क्या हो रहा है। समझ मे नही आ रहा है यही शिल्पकार के मुख से नामक ब्लाग का है। इसका समाधान चिट्ठा जगत को करना चाहिए।

महफूज़ अली रवि दिस॰ 06, 11:02:00 am 2009  

अब समस्या तो है..... उम्मीद है कि जल्द ही ठीक हो जाएगी...........

Kajal Kumar रवि दिस॰ 06, 11:16:00 am 2009  

चिट्ठाजगत ज़रूर जवाब देगा. एक बार मैं भी कुछ परेशानियां झेल रहा था. चिट्ठाजगत ने बाकायदा मेरी मेल का जवाब देकर निवारण किया था.

Udan Tashtari रवि दिस॰ 06, 05:57:00 pm 2009  

कुछ तकनीकि समस्या चल रही है और निवारण के उपाय भी. धैर्य धरें.

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP