राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

रविवार, मई 31, 2009

जब सूरज को लगी प्यास-आया तालाब के पास


छाया: राजकुमार ग्वालानी

10 टिप्पणियाँ:

ajay रवि मई 31, 07:52:00 pm 2009  

अच्छी तस्वीर है, जर बता भी दें कहाँ की है

M VERMA रवि मई 31, 09:44:00 pm 2009  

तस्वीर सुन्दर है ही -- शीर्षक और भी सुन्दर है
बधाई

राजकुमार ग्वालानी सोम जून 01, 10:40:00 am 2009  

अजय जी,
यह तस्वीर रायपुर के करीब 80 किलो मीटर की दूरी पर स्थिति पलारी नामक गांव के एक मंदिर बाल समुद के तालाब की है। यह तस्वीर हमने तब खींची थी जब कुछ दिनों पहले हम वहां गए थे। दरअसल इस गांव में हमारे भाई की दुकान है। यह वह गांव है जहां हमारा बचपन बीता है।

rajesh patel सोम जून 01, 01:11:00 pm 2009  

वाह क्या सीन है ....

रंजना सोम जून 01, 03:58:00 pm 2009  

Ek sadharan se drishy ko aapke najariye ne asadharan bana diya....Waah !!

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP