राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

सोमवार, जून 01, 2009

चश्मा लगाओ-मोटापा भगाओ

अबे मोटे, ऐ मोटी ये जुमले सुन-सुन कर मोटे लोग हमेशा एक हीन भावना महसूस करते हैं साथ उनको गुस्सा भी बहुत आता है कि लोग उनके मोटापे का मजाक उड़ाते हैं। लेकिन क्या किया जाए कि भगवान की बनाई इस दुनिया में सभी एक समान नहीं हो सकते हैं। लेकिन यहां पर एक बात यह भी है कि लोग अगर अपने शरीर का ध्यान नहीं रखते हैं तो वे बिना वजह फूल जाते हैं और मोटे हो जाते हैं। लेकिन अब मोटे लोगों के लिए एक खुश खबरी है कि उनको बिना किसी दवाई के अपना मोटापा घटाने का एक फार्मूला मिल गया है, इस फार्मूले में न तो मीलों लंबी दौड़ लगानी है और न ही कोई बड़ी भारी एक्सरसाइज करनी है। बस आपको यह करना है कि एक चश्मा लगाओ और मोटापा घटाओ। ऐसी करिश्माई चश्मा बनाने का काम जापानियों ने किया है। हैं न बड़े फायदे वाली बात।


चश्मे के बारे में अब तक हम सभी यही जानते हैं कि यह आंखों की रक्षा करने का काम करता है और एक चश्मा नजर वाला होता है। लेकिन कोई चश्मा ऐसा भी होता है जिसको पहनने से मोटापा कम हो जाता है, यह हैरत वाली बात है। लेकिन अपने जापानी भाईयों से ऐसा कमाल कर दिखाया है जिन्होंने एक चश्मा बनाया है जिसको पहनने से मोटापा गायब हो जाएगा। अब सोचने वाली बात यह है कि चश्मा पहनने से मोटापा गायब कैसे हो सकता है? तो बंधु उसका सीधा सा जवाब यह है कि ऐसा माना जाता है कि मोटापे के पीछे सबसे बड़ा कारण खान-पान का होता है। मोटों के बारे में ऐसी धारणा है कि उनको भूख ज्यादा लगती है और भूख लगने के कारण वे जितना ज्यादा खाते हैं उतना ही उनका शरीर बढ़ते जाता है और बढ़ता है उनका वजन। जब उम्र की तुलना में शरीर ज्यादा बढ़ जाता और वजन उम्मीद से ज्यादा हो जाता है तो परेशानियों के साथ बीमारियों का दौर भी प्रारंभ हो जाता है। वैसे भी मोटापा ही एक बहुत बड़ी बीमारी है। इस बीमारी के लगने के बाद शरीर पूरी तरह से बीमारियों का घर बन जाता है और कदम-कदम पर परेशानियां आती हैं। ऐसे में हर मोटा आदमी सोचता है कि ऐसी कोई जादू की छड़ी मिल जाए जिससे उसका मोटापा छूमंतर हो जाए। अब तक तो इस दुनिया में ऐसी कोई जादू की छड़ी नहीं बनी है।

अब अगर मोटापा घटाने वाला चश्मा आया है तो इसको भी जादू की छड़ी नहीं कहा जा सकता है। इस चश्मे को पहनने के साथ आत्मविश्वास भी जरूरी है। कारण यह है कि इस चश्मे को पहनने के बाद आपको खाने से परहेज करनी है। अब हम जान लें कि यह चश्मा क्या बला है। तो इस चश्मे के बारे में बताया जा रहा है कि इसको पहनने के बाद मोटे लोग अनावश्यक खाने से बच सकेंगे। नीले रंग का यह चश्मा पहनने के बाद जब आप खाने की तरफ देखेंगे तो खाना खाने की इच्छा नहीं होगी। हालांकि इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि खाना कैसा दिखेगा, लेकिन ऐसा लगता है कि खाना इतना ज्यादा खराब दिखेगा कि कोई उसको खाने की हिम्मत नहीं करेगा। लेकिन किसी को अगर खाना खाना ही होगा तो हो सकता है कि वह चश्मा पहने ही नहीं। ऐसे में यह दावा नहीं किया जा सकता है कि चश्मा पहनने के बाद वजन घट ही जाएगा।

अब अगर मोटापा घटाने वाला चश्मा आया है तो इसको भी जादू की छड़ी नहीं कहा जा सकता है। इस चश्मे को पहनने के साथ आत्मविश्वास भी जरूरी है। कारण यह है कि इस चश्मे को पहनने के बाद आपको खाने से परहेज करनी है। अब हम जान लें कि यह चश्मा क्या बला है। तो इस चश्मे के बारे में बताया जा रहा है कि इसको पहनने के बाद मोटे लोग अनावश्यक खाने से बच सकेंगे। नीले रंग का यह चश्मा पहनने के बाद जब आप खाने की तरफ देखेंगे तो खाना खाने की इच्छा नहीं होगी। हालांकि इस बात का खुलासा नहीं किया गया है कि खाना कैसा दिखेगा, लेकिन ऐसा लगता है कि खाना इतना ज्यादा खराब दिखेगा कि कोई उसको खाने की हिम्मत नहीं करेगा। लेकिन किसी को अगर खाना खाना ही होगा तो हो सकता है कि वह चश्मा पहने ही नहीं। ऐसे में यह दावा नहीं किया जा सकता है कि चश्मा पहनने के बाद वजन घट ही जाएगा। चश्मा तो महज एक माध्यम है। वैसे अगर मोटे क्या किसी भी इंसान में आत्मविश्वास हो तो उसको ऐसे किसी की चश्मे की कभी जरूरत ही न हो। लेकिन हर इंसान में ऐसा आत्मविश्वास नहीं होता है कि वह वही करें जो उसका दिमाग कहता है। बहरहाल देखें कि अब यह चश्मा किस तरह से रामबाण का काम करता है। सभी मोटे मित्रों को शुभकामनाएं हैं कि उनको यह चश्मा रास आए। वैसे वे अपना आत्मविश्वास बढ़ा लें तो उनको न तो किसी चश्मे की जरूरत पड़ेगी और न ही किसी नीम-हकीम डॉक्टर की जो मोटापे घटाने के नाम पर लोगों को ठगने का काम करते हैं। मोटापा घटाने का एक मात्र रास्ता अगर कोई है तो वह महज नियमित व्यायाम और योगासन है। इसको अगर आप आत्मसात कर लें तो फिर मोटापे का छूमंतर होना तय है।

12 टिप्पणियाँ:

guru सोम जून 01, 09:53:00 am 2009  

कुछ चश्मे हमारे शहर में भी सप्लाई करवा देना गुरु

rohan सोम जून 01, 09:58:00 am 2009  

क्या इस चश्मे ने ऐसा कोई करिश्मा जापान में किया है। यह तो किसी कंपनी की अपने उत्पाद बेचने की साजिश लगती है।

बेनामी,  सोम जून 01, 10:12:00 am 2009  

भईया काहे मोटे लोगन के पीछे पड़े हैं।
आशुतोष शुक्ला रांची

Nirmla Kapila सोम जून 01, 10:14:00 am 2009  

राज्कुमार जी एक चश्मा हमारे लिये भी मंगवा दीजियेगा हम तो रोज़ योगा और सैर कर्ते हैं फिर भी मोटे है बस खाना पीन न छ्होडना पडे ये चश्मा सही रहेगा आभार आपको हम जेसे मोटों का ध्यान रखते हैं

ranju सोम जून 01, 10:33:00 am 2009  

यह बात आपने ठीक लिखी है कि मोटापा पर नियंत्रण के लिए आत्मविश्वास से बड़ी कोई चीज नहीं है।

राजकुमार ग्वालानी सोम जून 01, 10:44:00 am 2009  

निर्मला जी,
# हमें चश्मा मिला तो हम जरूर आपको यह गिफ्ट कर देंगे। फिलहाल तो हमें भी इस चश्मे का इंतजार है कि कब यह जापानी से उड़कर भारत आएगा।
# गुरु जी
आपके शहर में जरूर भिजवाएं जाएंगे बस जापान से खेप आने का इंतजार करें।

harseeta सोम जून 01, 01:06:00 pm 2009  

यह बात ठीक है कि मोटापा किसी दवाई-गोली से कम नहीं होता है इसके लिए योगासन से उतम कोई साधन नहीं है।

rajesh patel सोम जून 01, 01:12:00 pm 2009  

मोटापा कम करने का दावा करने वाले नीम-हकीमों के पास जाना ही गलत है।

बेनामी,  सोम जून 01, 01:27:00 pm 2009  

भईया पतला होना है तो पतला ही खाना खाओ न....

sammer सोम जून 01, 01:49:00 pm 2009  

चश्मे से अगर मोटापा कम होने लगे तो दुनिया में कोई मोटा ही नहीं रहेगा।

tina सोम जून 01, 05:15:00 pm 2009  

रोचक और अच्छी जानकारी है, आभार

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP