राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

मंगलवार, जून 16, 2009

बुरी नजर वाले तेरा मुंह गोरा

अरे.. अरे.. चौक गए न आप भी कि हम ये क्या कह रहे हैं। आज अचानक एक वाहन के पीछे फिर से यह लिखा दिख गया कि बुरी नजर वाले तेरा मुंह काला। आज भी राह चलते अक्सर ट्रकों, बसों और किसी भी चार चक्के वाले वाहन में यह एक मुहावरा लिखा दिख जाता है। हमने इस मुहावरे को देखने के बाद सोचा यार हमेशा यही लिखा मिलता है कि बुरी नजर वाले तेरा मुंह काला। लेकिन जहां तक हमें याद है कि अभी मुंबई में अपनी नौकरानी के साथ बलात्कार करने वाले यानी बुरी नजर रखने वाले शाइनी आहूजा का तो मुंह गोरा है। और भी न जाने ऐसे कितने दरिंदे हैं जो बलात्कार करने या फिर यौन शोषण करने का काम करते हैं। ऐसा करने वाले ज्यादातर लोगों के मुंह तो गोरे ही होते हैं। फिर यह क्यों कहा जाता है कि बुरी नजर वाले तेरा मुंह काला। हमें तो लगता है कि खामखा में बेचारे काले मुंह वालों को बुरा कहा जाता है। ऐसा नहीं है कि सभी काले मुंह वाले अच्छे हो सकते हैं, लेकिन बुरी नजरों के जितने मामले सामने आते हैं उनमें तो 80 प्रतिशत से ज्यादा गोरे मुंह वाले होते हैं। हमें तो लगता है कि अब इस मुहावरे को बदल कर बुरी नजर वाले तेरा मुंह गोरा रख देना चाहिए। भले मुहावरे का मतलब यह होता है कि बुरी नजर रखने वाले को लानत यानी उसका मुंह काला। लेकिन कितने लोगों का आज तक मुंह काला हुआ है।

बलात्कार और यौन शोषण करने वालों पर आपको कल राजतंत्र
में एक पोस्ट पढऩे को मिलेगी.. हर दूसरे घर में हैं बलात्कारी दरिंदे

8 टिप्पणियाँ:

neha मंगल जून 16, 01:41:00 pm 2009  

बुरी नजर वाले का मुंह काला हो या गोरा क्या फर्क पड़ता है, जिसकी नीयत ही गंदी हो जिसका मन ही काला हो उनके चेहरे से क्या?

vinay sahu,  मंगल जून 16, 01:44:00 pm 2009  

वैसे आइडिया बुरा नहीं है

बेनामी,  मंगल जून 16, 04:05:00 pm 2009  

रविवार पर आपके ब्लाग के बारे में जानकारी मिली. बहुत विविधता के साथ और बहुत साफ-साफ आप लिखते हैं. आज के पत्रकारों में ऐसी हिम्मत कहां.

उदय प्रकाश

ashok,  मंगल जून 16, 04:52:00 pm 2009  

चलो आज से इसी मुहावरे को लागू किया जाए

rajni मंगल जून 16, 05:07:00 pm 2009  

मुहावरे को बदलने से क्या होगा क्या बलात्कारी बदल जाएंगे

M Verma मंगल जून 16, 05:25:00 pm 2009  

जिसका मन काला हो उसका मुह काला या गोरा हो क्या फर्क पडता है अच्छी रचना

rohan मंगल जून 16, 05:42:00 pm 2009  

आपकी कल की पोस्ट का इंतजार रहेगा

Anil Pusadkar मंगल जून 16, 10:52:00 pm 2009  

काले गोरे के चक्कर मे मत पड़ो राजकुमार। आस्ट्रेलिया मे भी यही चल रहा है।

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP