राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

शुक्रवार, मई 01, 2009

50 हजार हर माह कमाई का देकर झांसा-बेरोजगारों को जा रहा है फांसा

इस मोबाइल 9691157860 नंबर पर लगातार काल करने के बाद अचानक काल लगती है और घंटी बजती है। उधर से मोबाइल उठाया जाता है और प्रारंभ होता है बातों का सिलसिला। सामने वाला पूछता है आप कौन बोल रहे हैं, इधर से मोबाइल लगाने वाला युवक अपना नाम बताता है और कहता है कि मैं आपके विज्ञापन के संदर्भ में बात करना चाहता हूँ । सामने वाला युवक की उम्र के साथ उसकी सारी जानकारी लेता है और फिर उसे कहता है कि आपको सबसे पहले हमारे एकाउंट में दो हजार रुपए जमा करके पंजीयन करवाना पड़ेगा, इसके बाद आपको काम मिल जाएगा। जब उन महानुभव से पूछा जाता है कि आखिर ऐसा कौन सा काम है जिसमें हमें 50 हजार रुपए महीने की कमाई होगी तो उधर से जवाब आता है कि आपको हाईप्रोफाइल महिलाओं की मसाज करनी होगी। एक विजिट का आपको पांच हजार रुपए मिलेगा।

ये बातें न तो किसी फिल्म की कहानी है और न ही किसी नाटक का हिस्सा है बल्कि ऐसा हकीकत में कई युवकों के साथ हो रहा है कि 50 हजार रुपए महीने का कमाने के चक्कर में कई युवक लुट रहे हैं। इस बात का खुलासा हमारे मित्र ने करते हुए बताया कि उन्होंने रायपुर के एक बड़े अखबार में एक विज्ञापन देखा कि एक काल करें और घर बैठे कमाएं 50 हजार रुपए मासिक। ऐसे में हमारे मित्र ने उस विज्ञापन की हकीकत जानने के लिए ही लगातार उस नंबर पर काल की। दिन-रात की मेहनत के बाद जहां यह मालूम हुआ कि जिस किसी भी बंदे का वह मोबाइल नंबर है वह अपने मोबाइल को सुबह 11 बजे से प्रारंभ करता है और कुछ ही घंटे इसे चालु रखता है। जब उसका मोबाइल चालु रहता है तब बड़ी मुश्किल से काल लगती है। काफी कोशिशों के बाद जब हमारे मित्र की काल लगी तब उन्होंने ही उस बंदे से जो वार्तालाप किया वही हमने शुरू में लिखा है।

हमारे मित्र ने बताया कि उनसे जब दो हजार रुपए खाते में जमा करने की बात की गई तो उन्होंने उस बंदे से कहा कि वह तो बहुत गरीब हैं और इतने पैसों का इतंजाम करना संभव नहीं होगा। हमारे मित्र ने उससे कहा कि एक विजिट दिलवा दीजिए और उससे ही आप अपने दो हजार रुपए ले लीजिए या फिर उस विजिट के सारे पैसे ही आप रख लेना। लेकिन वह बंदा तैयार नहीं हुआ। तब उससे कहा गया कि अगर मैं कहीं से दो हजार रुपए का इंजताम कर दूं तो मुझे काम कब से मिलेगा, तब उस बंदे ने कहा कि आपका पैसा जमा होते ही आपको एक-दो दिन में पहली विजिट पर भेजा जाएगा। जब उससे कहा गया कि मुझे तो मसाज के बारे में कुछ भी मालूम नहीं है तो उधर से जवाब आया इससे कुछ नहीं होता है जब आपको पहली विजिट में भेजा जाएगा तो हमारा एक आदमी आपके साथ जाएगा जो आपको समझा देगा कि कैसे मसाज करनी है। जब उससे पूछा गया कि केवल मसाज का ही मामला है न, तो उसने कहा कि आगे और कुछ भी हो सकता है। अब आगे कुछ क्या का खुलासा करने की जरूरत नहीं है।

हमारे मित्र से इस मामले की जानकारी होने के साथ यह भी मालूम हुआ है कि इस एक विज्ञापन के चक्कर में पूरे छत्तीसगढ़ के न जाने कितने बेरोजगार युवक फंसे हैं। जानकार बता रहे हैं कि बेरोजगारों से दो हजार रुपए एचडीएफसी बैंक में जमा करवा लिए जाते हैं उसके बाद न तो वह बंदा फोन उठाता है और न ही बैंक से उस खाते नंबर के बारे में जानने पर कोई कुछ बताता है। यह तो एक छत्तीसगढ़ की और एक विज्ञापन की बात है न जाने ऐसा कितने राज्यों में विज्ञापन देकर ऐसी ठगी करने वाले लोग सक्रिय हैं जिनको देखने वाला कोई नहीं है और देश के बेरोजगार युवक लगातार ऐसे ठग गिरोह के शिकार हो रहे हैं। एक आशंका यह भी है कि हो सकता है कि वास्तव में ऐसे बंदे कुछ हाई प्रोफाइल महिलाओं के लिए मसाज के लिए युवकों का इंतजाम करने का भी काम कर रहे हों।

महानगरों में ऐसे किस्से सामने आते रहे हैं कि महिलाओं की मसाज करने के लिए कम उम्र के युवकों को हायर किया जाता है। महानगरों में कई ऐसे ब्यूटी पार्लर हैं जहां पर महिलाओं की मसाज करने का काम युवक करते हैं। और ऐसे भी ब्यूटी पार्लर हैं जहां पर पुरुषों के मसाज के लिए लड़कियों को रखा जाता है। कई ऐसे मसाज सेंटरों में छापे भी पड़े हैं और गिरफ्तारियां भी हुईं हैं, लेकिन इसके बाद भी ऐसे धंधे कभी बंद नहीं होते हैं। अगर ऐसा धंधा छत्तीसगढ़ में भी पनप रहा तो कोई आश्चर्य की बात नहीं है लेकिन फिलहाल ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है जिससे ऐसा दावा किया जा सके, लेकिन एक आशंका जरूर है। वैसे इस मामले में ठगी का अंदेशा ज्यादा है। अब ऐसे लोगों की ठगी का शिकार होने वाले युवक इसकी शिकायत भी नहीं करते हैं एक तो महज दो हजार रुपए का मामला रहता है ऊपर से अगर कोई पुलिस के पास जाने की हिम्मत करता भी है तो पुलिस का पहला जवाब रहता है कि ऐसे किसी मोबाइल नंबर पर आपको फोन करने की जरूरत ही क्या थी। यह तो जनाब ऐसे मामले की बात है पुलिस तो उस समय भी ऐसा जवाब देती है जब कोई रांग नंबर से आपके घर में किसी महिला को लगातार परेशान कर रहा होता है, तब पुलिस किसी ऐसे बंदे को पकडऩे की बजाए कहती है कि आप अपने घर का सेल नंबर ही बदल लें। अब ऐसे में भला कौन पुलिस के पास जाना चाहेगा। यही वजह है कि ऐसे ठगी करने वालों के हौसले आज बुलंद हैं और बकायदा बड़े अखबारों में विज्ञापन देकर खुले आम लोगों को ठगने का काम किया जा रहा है।

हमारी जानकारी में यह मामला आया तो इसको हमने सार्वजनिक करने के लिए अपने ब्लाग को चुना है। हम चाहते हैं कि अपनी ब्लाग बिरादरी में अगर कोई मित्र ऐसे मामले के बारे में जानता है तो उसका भी खुलासा करे ताकि लोग सचेत हों और ठगी का शिकार होने से बच सकें।

(ऊपर दिया गया फोन नंबर फर्जी नहीं बल्कि सही है आप भी फोन लगाकर देखें तो मालूम होगा कि वह बंदा ऐसा कहता है या नहीं)

6 टिप्पणियाँ:

anu शुक्र मई 01, 12:13:00 pm 2009  

ऐसे ठग बिना वजह महिलाओं को बदनाम करने के लिए उनके नाम का इस्तेमाल करते हैं। हो सकता है कहीं पर महिलाओं के लिए ऐसे मसाज सेंटर हो लेकिन इसकी वजह से तो सपूर्ण नारी जगत बदनाम होता है। ऐसा करने वालों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। आपने यह मामला सामने रखा है, इसके लिए आप बधाई के पात्र है।

ajay शुक्र मई 01, 12:23:00 pm 2009  

बेरोजगारों को ठगने वाले ऐसे लोगों को पकड़वाने का काम सबको मिलकर करना चाहिए। सही कहा आपने ऐसे ठग तो हर राज्य में होते हैं लेकिन इनके खिलाफ लिखने और बोलने वाला कोई नहीं होता है। आपने जो पहल की है वह स्वागतोत्य है, आपका धन्यवाद

बेनामी,  शुक्र मई 01, 12:35:00 pm 2009  

मसाज सेंटरों की आड़ में कई शहरों में जिस्मफरोसी का धंधा होता है। बड़े महानगरों में ऐसे सेंटर हैं ही जहां पर महिला और पुरुषों के लिए मसाज की इंतजाम उनकी जेब देखकर किया जाता है। कई शहरों में पुरुष वैश्या भी होते हैं जिनको हायर किया जाता है। अब यह बात अलग है कि भारतीय समाज में महिलाओं को वैश्यावृत्ति में लिप्त होने पर पकड़ा जाता है। कभी ऐसे मामले सामने आते नहीं देखे हैं जिसमें पुरुष वैश्या को गिरफ्तार किया गया है।

guru शुक्र मई 01, 12:51:00 pm 2009  

बड़ा साहसिक काम किया आपने गुरु

rajesh patel शुक्र मई 01, 04:49:00 pm 2009  

आपके मित्र ने एक ठग गिरोह का पता लगाकर अच्छा काम किया है अब यह मामला पुलिस में दे देना चाहिए। माना पुलिस कुछ नहीं करती है लेकिन अपना फर्ज निभान से पीछे नहीं हटना चाहिए।

बेनामी,  शुक्र मई 01, 04:56:00 pm 2009  

अपने देश की पुलिस तो निक्कमी है उससे किसी भी तरह की उम्मीद करना बेकार है। बेरोजगारों से ठगी करने वालों का पता लगाकर उनको सबक सीखने का काम खुद करना चाहिए।

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP