राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

गुरुवार, जुलाई 09, 2009

ब्रह्मानंद बने प्रिंस पहेली- 3 के राजा- सैयद, समीरलाल, महाशक्ति ने भी बजाया सही जवाब का बाजा


प्रिंस पहेली 3 के सही जवाब देने वाले चार में से तीन अपने ब्लागर मित्र हैं। पहला सही जवाब देने वाले ब्रह्मानंद हैं। लेकिन इन महानुभव की कोई प्रोफाइनल नहीं है और ये महोदय ब्लागर भी नहीं हैं। वैसे हमने यह कोई नियम नहीं बनाया है कि कोई ब्लागर ही इसमें हिस्सा ले सकता है। बम्हानंद के बाद सही जवाब देने का काम सैयद जी ने किया। इसके बाद अपने समीरलाल जी यानी उडऩ तश्तरी का सही जवाब आया। और महाशक्ति ने भी वहीं जवाब भेजा। अंत में रंजन जी ने हमारी पहेली के जवाब में जो जवाब भेजा उनका गणित ऐसा है कि हम भी उलझ गए कि वे क्या कहना चाहते हैं। वैसे हमारे जिन चार मित्रों ने सही जवाब दिए हैं उनके जवाब में एक गलती है। सभी ने जवाब में 13 .125 लिखा है। कायदे से इनको यह 13.12.5 लिखना था। क्योंकि सही जवाब 13 रुपए साढ़े बारह नए पैसे हैं बहरहाल इन्होंने एक तरह से सही जवाब दिए हैं। इसलिए इनमें से पहला सही जवाब देने वाले ब्रम्हानंद जी विजेता हुए। दूसरे नंबर पर सैयद जी, तीसरे नंबर पर समीरलाल जी और चौथे नंबर पर महाशक्ति हैं। अब रही बात रंजन जी की तो हम भी उनसे जानना चाहेंगे कि आखिर वे किस तरह से अंत में इस हल पर पहुंच कि 13.125 जवाब होगा। वे हमारा जवाब और अपना जवाब मिलाकर देखें अगर उनको हमारा जवाब गलत लगे और अपना सही तो हमें भी जरूर समझाने का कष्ट करें। अगर वे अपना जवाब सही साबित करते हैं तो हमें उनको पांचवां विजेता मानने में कोई दिक्कत नहीं है।


सही जवाब पर नजरें पूरे विवरण के साथ नजरें डालें।


हमारे मित्र 13 रुपए साढ़े बारह नए पैसे लेकर बैंक जाते हैं।


पहली बैंक में गार्ड को पांच रुपए देने के बाद आठ रुपए साढ़े बारह नए पैसे बचते हैं जो 16 रुपए 25 पैसे बन जाते हैं। पांच रुपए चपरासी को देने के बाद उनके पास 11 रुपए 25 पैसे बचते हैं।


दूसरी बैंक में वे गार्ड को पांच रुपए देकर अंदर जाते हैं तो बचे हुए 6 रुपए 25 पैसे हो जाते हैं 12 रुपए 50 पैसे। चपरासी को यहां पांच रुपए देने के बाद बचते हैं 7 रुपए 50 पैसे


तीसरी बैंक में गार्ड को पांच रुपए देने के बाद उनके पास बचते हैं 2 रुपए 50 पैसे जो बन जाते हैं पांच रुपए और यही पांच रुपए वे चपरासी को दे देते हैं तो वापसी में उनके पास बिलकुल पैसे नहीं बचते हैं।

अब चलते-चलते कुछ टिप्पणियों पर भी चर्चा कर लें। सबसे पहले गुरु ने अपने अंदाज में कहा कि-अरे

ये तो रिश्वत का मामला लगता है गुरु

विनय ने कहा- पैसे डबल करने वाले बैंक का पता मुझे भी बताएं, पैसों की तंगी चल रही है।

समीर ने कहा- गणित में तो मैं कमजोर हूं फिर भी कोशिश करके देखता हूं क्या किया जा सकता है।

नजर ने कहा- सब अगड़म बगड़म हो गया, अगर हिसाब लगा पाये तो पुन: टिप्पणी देंगे।

टीना ने कहा - तीन-तीन बैंकों में खाते और गार्ड और चपरासी को पैसे देने में कंजूसी।

अजय ने कहा- हर बार गणित में ही क्यों उलझाते हैं, थोड़ा हटकर भी पूछे

दिलीप गेड़ेकर ने कहा- क्या घांसू पहेली दी है बाप पसीना निकल गया, पर हल नहीं सुझ रहा है।

रोहन ने कहा- इतने भयानक आईडिया आपके दिमाग में आते कहां से हैं।

14 टिप्पणियाँ:

tina गुरु जुल॰ 09, 08:58:00 am 2009  

विजेताओं को बधाई

guru गुरु जुल॰ 09, 08:59:00 am 2009  

पहेली के बहाने अच्छी चर्चा की गुरु

ajay गुरु जुल॰ 09, 09:32:00 am 2009  

अगली बार विजेता बनने की कोशिश करेंगे

dilip,  गुरु जुल॰ 09, 09:38:00 am 2009  

बहुत-बहुत बधाई

RC Mishra गुरु जुल॰ 09, 09:57:00 am 2009  

जवाब में १३.१२५ गणित के अनुसार पूर्णतः सही है, १३.१२.५ का कोई अर्थ नही निकलता। आप ने ये कहाँ से सीखा?

neha गुरु जुल॰ 09, 10:02:00 am 2009  

अगली पहेली का इंतजार रहेगा

राजकुमार ग्वालानी गुरु जुल॰ 09, 10:12:00 am 2009  

मिश्रा जी
अगर हम 125 लिखे तो आप क्या समझेंगे। इसका मतलब 125 रुपए, 125 लाख, 125 करोड़, 125 मीटर, 125 फीट कुछ भी हो सकता है। अगर हम 12.5 लिखते हैं तो इसका मतलब होता है कि बारह और आधा यानी साढ़े बारह। अब साढ़े बारह चाहे रुपए हो, हजार, लाख, करोड़ हों या फिर साढ़े बारह मीटर, फीट या चाहे जो भी हो। यह गलत नहीं है, 125 लिखना गलत है। गणित में दशमलव का बहुत ज्यादा महत्व होता है, अगर दशमलव न हो तो गणित के क्या मायने। अगर कभी भूले से कोई दशमलव लगाना भूल जाए तो पैसों को रुपए बनने में समय नहीं लगता है। आप अगर किसी से 12.5 करोड़ ले रहे हैं और आप 125 लिख देते हैं तो फिर वह तो आपसे 125 करोड़ वसूल लेगा।

brahmanand गुरु जुल॰ 09, 10:42:00 am 2009  

राजकुमार जी मेरा हिन्दी मे सही नाम ब्रह्मानंद होगा. कृप्या इसे सही कर ले.
धन्यबाद

रंजन गुरु जुल॰ 09, 11:06:00 am 2009  

मिश्रा जी सही कह रह है.. १३.१२५ ही सही है... १३.१२.५ का कोई अर्थ नहीं..

सभी को बधाई...

suman,  गुरु जुल॰ 09, 01:01:00 pm 2009  

विजेताओं को बधाई

Udan Tashtari गुरु जुल॰ 09, 04:59:00 pm 2009  

ब्रह्मानंद जी एवं अन्य विजेताओं को बधाई.

mahashakti गुरु जुल॰ 09, 06:07:00 pm 2009  

वाह, हम भी विजेता प्रथम विजेता सहित समीर जी को भी बहुत बहुत बधाई

सैयद | Syed गुरु जुल॰ 09, 10:35:00 pm 2009  

विजेताओं को बधाई..

वैसे १३.१२.५ का कोई अर्थ नहीं निकलता...

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP