राजनीति के साथ हर विषय पर लेख पढने को मिलेंगे....

सोमवार, जुलाई 06, 2009

कामनवेल्थ में पदक जीतेंगे!


छत्तीसगढ़ की तिकड़ी को भारतीय टीम में भी स्थान बनाने का भरोसा


छत्तीसगढ़ की दो अंतरराष्ट्रीय नेटबॉल खिलाडिय़ों नेहा बजाज और प्रीति बंछोर के साथ पहली बार संभावित नेटबॉल टीम में शामिल शकुंतला पटेल को जहां अंतिम भारतीय टीम में शामिल होने की उम्मीद है, वहीं इनका एक स्वर में कहना है कि भारत का पदकों का टोटा कामनवेल्थ में समाप्त हो सकता है। भारत को अब तक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक भी पदक नहीं मिला है। लेकिन कामनवेल्थ के भारत में होने के साथ ही इसके लिए जिस तरह से लगातार प्रशिक्षण शिविर लगाए जा रहे हैं उसको देखते हुए खिलाडिय़ों का ऐसा मानना है कि भारत इस बार तो जरूर फाइनल में स्थान बना सकता है।

गांधीनगर गुजरात में कामनवेल्थ नेटबॉल के लिए एक माह के प्रशिक्षण शिविर में शामिल होकर आईं इन तीनों खिलाडिय़ों ने रविवार की शाम को यहां पर चर्चा करते हुए बताया कि कैम्प में भारतीय टीम को तैयार करने का काम उस देश श्रीलंका की कोच मेरी लूज कर रही हैं जिस देश की टीम का वर्चस्व आज एशिया में है। अंतरराष्ट्रीय कोच भारतीय टीम को पदक तक पहुंचाने के लिए खिलाडिय़ों से सुबह, दोपहर और शाम को मेहनत करवा रही हैं। खिलाडिय़ों को रोज ६ से ८ घंटे तक अभ्यास करवाया जा रहा है। पूछने पर तीनों खिलाड़ी कहती हैं कि इतना अभ्यास पर्याप्त है अगर कोच का आदेश होगा तो १० घंटे से भी ज्यादा समय तक अभ्यास करने के लिए खिलाड़ी तैयार हैं। सभी खिलाडिय़ों का इस समय एक ही मकसद है कि अपने देश के लिए पदक जीतना है। फिर इसके लिए चाहे कितनी भी मेहनत करनी पड़े। इन खिलाडिय़ों ने बताया कि एक माह के प्रशिक्षण के बाद अब फिर से ८ जुलाई से प्रशिक्षण शिविर प्रारंभ होने वाला है। इस बार तीन माह के लिए लगेगा प्रशिक्षण शिविर।

अनुभव की कमी हार का कारण


सिंगापुर में सीनियर एशियन चैंपियनशिप खेलकर लौटीं भारतीय टीम की सबसे लंबे कद की नेहा बजाज का कहना है कि भारतीय टीम अगर कहीं मात खाती है तो वह अनुभव में। वह बताती हैं कि भारतीय टीम का किसी चंैपियनशिप में जाने से पहले ज्यादा दिनों का प्रशिक्षण शिविर नहीं लगता है। उन्होंने बताया कि हमारी टीम अगर एक माह के कैम्प के बाद खेलने जाती है तो क्या हुआ, विदेशी टीमों का तो साल भर कैम्प चलते रहता है। इसी के साथ विदेशी टीमों को बहुत ज्यादा अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने को मिलते हैं। भारतीय टीम को भी अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने भेजना चाहिए। पूछने पर उन्होंने बताया कि सिंगापुर में भारतीय टीम मात्र दो मैच ही जीत सकी,जबकि उसको तीन मैचों में हार का सामना करना पड़ा। भारत ने मालदीप और पाकिस्तान को हराया, जबकि मलेशिया, श्रीलंका और हांगकांग से हार मिली। नेहा पूछने पर बताती हैं कि उनको लंबी होने का पूरा फायदा मिलता। ६।२ फीट की नेहा भारतीय टीम में इस समय सबसे लंबी खिलाड़ी हैं। उन्होंने बताया कि वह तीन बार भारतीय टीम से खेल चुकी हैं। पहली बार श्रीलंका में तीन देशों की चैंपियनशिप और फिर पिछले साल हांगकांग में यूथ एशियन चैंपियनशिप और अब सिंगापुर में सीनियर एशियन चैंपियनशिप में वह खेली हैं। नेहा पूछने पर बताती हैं कि उनका एक ही सपना है कि भारतीय टीम को अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में पदक दिलाना है।


अपने देश में खेलने का फायदा मिलेगा

भारतीय टीम की कप्तानी कर चुकी प्रीति बंछोर काफी आत्मविश्वास के साथ कहती हैं कि कामनवेल्थ खेल चूंकि भारत में हो रहे हैं, ऐसे में अपने घर में मैच खेलने का फायदा मिलेगा और भारत को पदक तक पहुंचने में आसानी होगी। उन्होंने पूछने पर बताया कि वह पहली बार २००४ में भारतीय टीम से सिंगापुर में खेलने गईं थीं। इसके बाद २००५ में बेंगलोर में हुई यूथ चैंपियनशिप में भारतीय टीम की कप्तानी करने का मौका मिला। तीसरी चैंपियनशिप श्रीलंका में खेली। प्रीति को भरोसा है उनका ही नहीं छत्तीसगढ़ की दो और खिलाडिय़ों का भी चयन अंतिम भारतीय टीम में हो जाएगा।

चुने जाने से चकित हैं शकुंलता


भारत की संभावित टीम में चुनी गईं रायपुर की खिलाड़ी शकुंतला पटेल को भरोसा ही नहीं हुआ जब उनको बताया गया कि उनको भारत की संभावित टीम में रखा गया है। शकुंलता ने आज तक एक भी राष्ट्रीय चैंपियनशिप नहीं खेली है। उसको जब नेटबॉल खेलते हुए महज दो माह ही हुए थे तब उनको रविशंकर विवि की टीम से अखिल भारतीय चैंपियनशिप में खेलने का मौका मिला। पाटियाला में जब यह चैंपियनशिप हो रही थी तब वहां पर भारतीय टीम की अंतरराष्ट्रीय कोच मेरी लूज आई थीं। उन्होंने ही शकुंतला का खेल देखकर उनका चयन ट्रायल के लिए किया।। ट्रायल में जाने के बाद उन्होंने मेहनत की और उनको कामनवेल्थ की संभावित भारतीय टीम में स्थान मिल गया। अब उनका एक मात्र मकसद भारतीय टीम में स्थान बनाना है।

8 टिप्पणियाँ:

ajay सोम जुल॰ 06, 08:38:00 am 2009  

खिलाडिय़ों में अगर आत्मविश्वास हो तो कुछ भी असंभव नहीं है। कामनवेल्थ में जरूर पदक जीतक लाए और छत्तीसगढ़ के साथ भारत का नाम रौशन करें यही कामना है।

sudhir,  सोम जुल॰ 06, 08:48:00 am 2009  

भारतीय टीम की सबसे लंबी खिलाड़ी नेहा बजाज को अग्रिम बधाई की वह देश को पदक दिलाने में अहम रोल निभाएं।

sammer सोम जुल॰ 06, 09:01:00 am 2009  

पदक जीतना है तो खूब मेहनत करो

suman,  सोम जुल॰ 06, 09:31:00 am 2009  

अनुभव की कमी की वजह से ही तो भारत का खेलों में बंठाधार है।

chintu सोम जुल॰ 06, 09:50:00 am 2009  

चलो कोई तो है जो क्रिकेट से हटकर दूसरे खेलों पर भी लिखता है, अच्छा लेख है, आभार

saurabh सोम जुल॰ 06, 05:12:00 pm 2009  

अच्छी खबर है, आभार

Udan Tashtari सोम जुल॰ 06, 11:46:00 pm 2009  

बहुत बढ़िया..शुभकामनाऐं.

Related Posts with Thumbnails

ब्लाग चर्चा

Blog Archive

मेरी ब्लॉग सूची

  © Blogger templates The Professional Template by Ourblogtemplates.com 2008

Back to TOP